बेहद भाग्‍यशाली होते हैं इस राशि के लोग, इनके पास कभी नहीं होती पैसों की कमी, 36 की उम्र के बाद होता है भाग्योदय !

Posted on

ज्योतिष शास्‍त्र के अनुसार मेष राशि के जातकों में कुछ ऐसी खासियतें होती हैं, जो उन्‍हें खासा भाग्‍यशाली बनाती हैं. मेष राशि के स्‍वामी मंगल ग्रह होने के कारण इस राशि के जातकों में साहस, पराक्रम और ऊर्जा कूट-कूटकर भरी होती है. इस राशि के लोगों में बच्‍चों जैसी मासूमियत होती है. इस कारण वे जल्‍दी से लोगों के बीच आकर्षण का केंद्र बन जाते हैं. इन लोगों पर निराशा और गुस्‍सा ज्‍यादा देर तक हावी नहीं रह पाती है.

आजाद ख्‍याल होते हैं मेष राशि के जातक 
मेष राशि के जातक आजाद ख्‍याल के होते हैं. स्‍वभाव से खासे दोस्‍ताना होते हैं. खतरों से घबराते नहीं हैं. इन राशि वालों में खतरों से डरने की आदत नहीं होती है. ये लोग हर हालात का डटकर मुकाबला करते हैं. हालांकि ये चीजों से जल्‍दी बोर हो जाते हैं. इसलिए किसी काम को लंबे समय तक नहीं कर पाते हैं.

बहुत अच्‍छे जीवनसाथी साबित होते हैं
ये जातक अच्‍छे जीवनसाथी साबित होते हैं. अपने लाइफ पार्टनर की बहुत परवाह करते हैं. अपने परिवार को लेकर बहुत केयरिंग होते हैं. भरोसेमंद साथी साबित होते हैं. हालांकि ये अपनी शर्तों पर जीवन जीना पसंद करते हैं.

इस उम्र में होता है भाग्योदय
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, मेष राशि के जातकों का भाग्योदय 36 वर्ष की उम्र के बाद होता है. हालांकि उनके जीवन का 16वां, 22वां, 28वां और 32वां साल भी बहुत अच्‍छा रहता है. इन जातकों के पास कभी भी पैसों की कमी नहीं होती है. इनकी आर्थिक स्थिति बेहतर रहती है.

मेष राशि वालों के लिए मंत्र: मेष राशि के जातकों को ‘ॐ ग्रां ग्रीं ग्रौं सः गुरवे नमः’ या ‘ॐ बृं बृहस्पतये नम’ मंत्र का जाप करना शुभ फल देगा. साथ ही उन्‍हें गुरुवार के दिन चने की दाल, केले, पीले कपड़े, पीली मिठाई का दान करना बहुत शुभ फल देगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *