घर की शांति भी भंग कर देती हैं इस दिशा में बनी सीढ़ियां, छिन जाता है सुख-चैन और रुक जाती है तरक्‍की !

Posted on

घर में सीढ़ियों का वास्‍तु शास्‍त्र के अनुसार सही होना बहुत जरूरी है, वरना इसका बुरा असर करियर, तरक्‍की, सेहत, आर्थिक स्थिति आदि पर पड़ता है. गलत जगह पर बनी सीढ़ियां हाथ आए मौके छीन लेती हैं. साथ ही जीवन में कई मुसीबतें भी लाती हैं. लिहाजा घर की सीढ़ियां बनवाने से पहले और उनके रख-रखाव को लेकर वास्‍तु के कुछ नियमों का जरूर ध्‍यान रखना चाहिए.

कभी भी पूर्व दिशा में सीढ़ियां नहीं बनवाना चाहिए. पूर्व दिशा में बनी सीढ़ियां घर के सदस्‍यों की तरक्‍की रोक देती हैं. तमाम कोशिशों के बाद भी उन्‍हें कामों में सफलता नहीं मिलती है. ना ही उनकी आय बढ़ती है.

कभी भी सीढ़ियों को गंदा नहीं रखना चाहिए. ना ही सीढ़ियों पर इस तरह सामान रखना चाहिए, जिससे सीढ़ी उतरने-चढ़ने में रुकावट हो. वरना ऐसी सीढ़ियां जीवन के हर क्षेत्र में बाधाएं खड़ी करती हैं. शुभ कामों में रुकावट डालती हैं. सीढ़ियां हमेशा अच्‍छी स्थिति में होनी चाहिए.

घर की सीढ़ियां हमेशा घड़ी की सुई की दिशा में यानी कि क्‍लॉक-वाइज बनवाना चाहिए. एंटी-क्‍लॉक वाइज तरीके से बनी सीढ़ियां भारी वास्‍तु दोष पैदा करती हैं. इससे घर के लोगों की सेहत पर बुरा असर पड़ता है.

पूर्व दिशा में बनी हुई सीढ़ियां घर की शांति भी भंग कर देती हैं. जिस घर में पूर्व दिशा में सीढ़ियां बनी हों, वहां अक्‍सर झगड़े-कलह होते रहते हैं. जीवन का सुख-चैन छिन जाता है. घर के सदस्‍यों को ह्दय रोग होने की आशंका बढ़ जाती है.

सीढ़ी के नीचे बाथरूम, किचन या मंदिर नहीं बनाना चाहिए. ऐसा करना घर में भयंकर वास्‍तु दोष पैदा करता है. बेहतर है कि सीढ़ी के नीचे का स्‍थान खाली ही रखें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *